स्टार्टअप

अपने स्टार्टअप या बिज़नस के लिए कैसे लोन ले बिना सिक्यूरिटी के | How to take loan for startup or business without security in hindi

Spread the love

 

मुद्रा योजना के अंतर्गत कैसे लोन लें अपने बिज़नस या स्टार्टअप के लिए ?

वैसे तो आप चाहें तो इस पूरी योजना जानकारी निचे दिए गए Toll Free नंबर पर कॉल करके पूरी जानकारी ले सकते हैं

1800 180 1111

1800 11 0001

परन्तु आपकी सहायता के लिये मैंने पूरी जानकारी यहाँ पर पोस्ट में मैंने लिख दी है |

अगर कोई भी भारतीय नागरिक मुद्रा लोन योजना के तहत लाभ उठाना चाहता है तो उसे निम्न प्रक्रियाओं का पालन करना होगा.

  • सबसे पहले ऋण प्राप्त करने को इच्छुक व्यक्ति को नजदीक के किसी बैंक में जाकर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लिए बैंक से संपर्क कर उनसे योजना का फॉर्म प्राप्त करना होगा ध्यान दें की आप आपने प्रोजेक्ट के साथ बैंक में जायें की किस बिज़नस को शुरू करने के लिए लोन लेना चाहते हैं आप
  • फिर ऋण आवेदन फॉर्म को भरकर साथ में मांगे गए कागजातों और आपके द्वारा किए जाने वाले व्यवसाय या फिर आप जिस किसी नए व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं, उसका विस्तृत विवरण प्रस्तुत करना होगा.
  • इसके बाद बैंक द्वारा निर्धारित सभी औपचारिकताओं को पूरा करना होगा.
  • सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद आपका ऋण मंजूर होगा और आपको उपलब्ध कराया जाएगा.

मुद्रा योजना की शर्तें?

Advertisements

  • आपको लोन लेने के लिए बैंक को मार्जिन मनी 15 से 20 परसेंट तक पे करनी होती है
  • इसमें आपका collateral नील रहेगा
  • गारंटी आपकी रहेगी बिज़नस व थर्ड पार्टी की
  • रीपेमेंट का टाइम तिन से पांच साल का मिलता है
  • रेट ऑफ़ इंटरेस्ट अथवा ब्याज बैंक का MCLR रेट और 2.2% पे करना होगा exact रेट आपको बैंक के तरफ से बता दिया जायेगा
  • अपफ्रंट फी आपकी 0.60% परसेंट SD on Loan Amount होगी
  • प्रोसेसिंग फी Rs.225 प्रत्येक लाख पे
  • डॉक्यूमेंटेशन फी Rs.400 प्रत्येक लाख पर पे करना होगा

मुद्रा बैंक योजना के तहत लोन / ऋण का प्रावधान 

मुद्रा लोन योजना के तहत ऋण लेने वालों को तीन वर्गों में वर्गीकृत किया गया है. इस वर्गीकरण का आधार व्यवसाय के विभिन्न चरण हैं – पहले चरण में, कारोबार शुरू करने वाले, दूसरे चरण में, मध्यम स्थिति में कारोबार को वित्तीय मजबूती प्रदान करने के लिए ऋण के तौर पर वित्त की तलाश और तीसरे चरण में वे हैं जो कारोबार को बढ़ाने के लिए अधिक पूंजी की की तलाश में हैं. इन तीनों वर्गों की जरूरतों को पूरा करने के लिए मुद्रा बैंक ने ऋण को निम्न तीन वर्गों में बांटा है –

  • शिशु लोन : इसके अंतर्गत 50 हजार रुपये तक के ऋण को रखा गया है.
  • किशोर लोन : इसके अंतर्गत 50 हजार से 5 लाख रुपये तक के ऋण को रखा गया है.
  • तरुण लोन : इसके अंतर्गत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के ऋण को निर्धारित किया गया है.

मुद्रा लोन योजना के तहत लाभ उठाने के लिए लगभग सभी प्रकार के व्यावसायिक इकाईयों, पेशेवरों और सेवा क्षेत्रों को शामिल किया गया है. इनमें छोटे दुकानदार, फल और सब्जी विक्रेता, रेहड़ी वाले, हेयर कटिंग सैलून, ब्यूटी पार्लर, हौकर, साइकिल-बाइक-कार रिपेयर करने वाले, ट्रांसपोर्टर, ट्रक ऑपरेटर, मशीन ऑपरेटर, दस्तकार, शिल्पी, पेंटर, खाद्य प्रसंस्करण वाली इकाईयां, रेस्तरां, सहकारी संस्थाएं, स्वयं सहायता समूह, लघु और कुटीर उद्दयोग आदि शामिल हैं.

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋण प्राप्त करने के इच्छुक आवेदक को अपने आवेदन के साथ निम्न दस्तावेजों को प्रस्तुत करना होगा –

  • पहचान के लिए पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट में से किसी एक की स्व-सत्यापित प्रतिलिपि.
  • निवास प्रमाण के लिए वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट में से एक या फिर टेलिफ़ोन या बिजली का बिल की स्व-सत्यापित प्रतिलिपि.
  • अगर आवेदक अनुसूचित जाति/जनजाति या पिछड़ा वर्ग से है तो उसके प्रमाणपत्र की स्व-सत्यापित प्रतिलिपि.
  • व्यावसायिक इकाई से संबंधित लाइसेंस, पंजीकरण प्रमाणपत्र, स्वामित्व की पहचान आदि दस्तावेजों की प्रतिलिपि.
  • आवेदक के लिए यह भी जरूरी है कि वह किसी बैंक या वित्तीय संस्थान का डिफाल्टर न हो.
  • अगर आवेदक 2 लाख और उससे ऊपर के ऋण के लिए आवेदन करता है तो उसे अपने पिछले 2 साल की आयकर विवरणी (Income Tax Return) और तुलन चिट्ठे (Balance Sheet) की प्रतिलिपि को प्रस्तुत करना होगा. शिशु वर्ग के ऋण के लिए यह अनिवार्य नहीं है.
  • अगर आवेदक बड़े स्तर पर नया व्यवसाय शुरू करना चाहता है या फिर अपने वर्तमान व्यवसाय का विस्तार करना चाहता है तो उसे व्यवसाय से संबंधित परियोजना रिपोर्ट को प्रस्तुत करना होगा. इस रिपोर्ट से व्यवसाय के तकनीकी और आर्थिक पहलुओं की जांच की जा सकेगी.
  • आवेदक को चालू वित्त वर्ष के दौरान उसके इकाई द्वारा की गई बिक्री और मुनाफे-घाटे का ब्यौरा भी प्रस्तुत करना होगा.
  • अगर आवेदक कंपनी या साझेदारी फर्म है तो उससे संबंधित डीड या मेमोरेंडम की प्रतिलिपि प्रस्तुत करना होगा.
  • आवेदन के साथ आवेदक को अपना 2 फोटो संलग्न करना होगा. (अगर आवेदक कंपनी या साझेदारी फर्म है तो उसके सभी निदेशकों या फिर साझेदारों की 2-2 फोटो संलग्न करने होंगे.)

 

आशा करता हूँ की आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप निचे कमेंट के जरिये हमसे पूछ सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *