Blogging

भारतीय समाज में Blogging और कैसे आप ला सकते हैं बदलाव

Spread the love

भारत में Blogging बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है लेकिन सवाल यह है कि क्या भारतीय समाज में इसे कभी भी मुख्य carrier option के रूप में माना जाएगा.
भारत में आप में से बहुत सारे लोग जो part-time bloggers हैं वे अभी इस बात को नहीं समझ सकते कि भारतीय समाज में full-time blogger होना क्या होता है.
इस article में, मैं आपके साथ कुछ मजेदार facts, साथ ही साथ भारतीय समाज में घर से काम करने के बारे में कड़वी सच्चाई share करूँगा.

blogging in india standup youths

अभी भी भारत में Professional blogging को full-time job नहीं माना जाता है. दरअसल, किसी भी चीज में ऑनलाइन काम शामिल होने पर इसे part-time job माना जाता है.

मुख्य रूप से ऐसा computer illiteracy और generation gap के कारण होता है.

चलिए अब भारतीय समाज में professional blogging के बारे में कुछ तथ्यों को देखते हैं.

घर से काम करना सबके लिए नहीं है:

आप चाहे इसे accept करें या ना करें लेकिन भारतीय समाज बेहद conservative है, और लोगों या संस्कृति में लंबे समय से व्याप्त मानसिकता या मान्यताओं को बदल पाना हमेशा कठिन होता है.

भारत में घर से काम करने को हमेशा part-time job माना जाता है, और इसे केवल passive income के लिए समझा जाता है. इसके अलावा, भारतीय समाज में किसी भी young person (23-35) के लिए पूरे समय घर से काम करना एक प्रकार से unacceptable होता है.

चाहे हम कितना भी कहें कि हम society या लोग क्या कहते हैं इसकी परवाह नहीं करते. लेकिन सच तो यह है कि हममें से ज्यादातर लोगों के लिए यह matter करता है. और यदि यह आपके लिए matter करता है तो यह आपसे जुड़े लोगों के लिए भी matter करता है.

भारत में Internet work को क्यों कभी भी income का main source नहीं माना जाता है, इसका एक कारण यह है कि भारत की ज्यादातर जनसंख्या (68-71%) rural India में रहती है और वहां अभी भी Internet का प्रयोग बहुत व्यापक रूप से नहीं किया जाता है.



 

लोगों को blogging explain कर पाना कठिन होता है:

मैं पिछले 5 सालों से professional blogger हूँ और शायद लोगों ने मुझसे लगभग 100 से ज्यादा बार पूछा होगा कि मैं क्या काम करता हूँ!

जब मैं उन्हें बताता हूँ कि मैं एक blogger हूँ तो मैं “What is blogging??” पूछते हुए उनके confused चेहरों को देख सकता हूँ.

confused-man standup youths

अगर मैं किसी तरह से उन्हें blogging के बारे में explain भी कर देता हूँ तो उनका अगला question होता है कि “क्या मैं सचमुच blogging से पैसे कमाता हूँ??”

ज्यादातर समय मैं अपने काम के बारे में पूछे जाने वाले सवालों का जवाब यह कहकर दे देता हूँ कि “मैं वेबसाइट बनता हूँ.” मुझे पूरा भरोसा है कि मैं ऐसा अकेला इंसान नहीं हूँ जो frustration की वजह से अपने profession को इस तरह से explain करता है.

मेरे काम और अन्य Internet based work से संबंधित जो ignorance यहाँ मौजूद है, उसके लिए यदि मुझे किसी को blame करना पड़े तो मैं भारतीय शिक्षा प्रणाली को करूँगा, जो practical application के बजाय केवल text book education तक सीमित है.

Blogging से भारतीय समाज में बदलाव लाना:

यदि आप मेरी blogging style से परिचित हैं तो आप संभवतः ऊपर दी गयी समस्या के लिए मुझसे किसी solution या work-around की उम्मीद कर रहे होंगे. इसके अलावा, यदि आप इस article को पढ़ रहे हैं तो आप भारत के भविष्य के bright minds में से एक हैं, और आपके अंदर भारतीय समाज (या किसी भी देश में जहाँ आप रहते हैं) में वास्तविक परिवर्तन लाने का सामर्थ्य है.

शिक्षित करना शुरू करें:

अपने उन सभी दोस्तों, रिश्तेदारों या अन्य लोगों को Invite करें जिन्हें काम की जरुरत है, और उन्हें blogging या अन्य online work के बारे में शिक्षित करें. उन्हें बताएं कि blogging का मतलब poetry या midnight thoughts के बारे में लिखना नहीं होता है, बल्कि यह काम करने का और आपके लिए एवं अन्य लोगों के लिए बदलाव लाने का एक तरीका है. आप इससे smart passive income भी कमा सकते हैं, और क्या पता कि कब आपके ideas next big thing में बदल जाएं.

लोगों को बताएं कि उनके पास ना केवल society को बदलने और शिक्षित करने का अवसर होगा बल्कि उनके पास अपने लिए नाम कमाने का भी अवसर होगा. वे अपने लिए और दूसरों के लिए passive income कमाने के नए रास्ते खोलने की प्रक्रिया का हिस्सा बन सकते हैं.

यहाँ एक उदाहरण है: अपने retired army officer रिश्तेदार को बताएं कि उन्होंने अब तक अपने देश की इसके दुश्मनों से रक्षा की है, और अब उनके लिए अपने knowledge और wisdom का प्रयोग करके भारत के युवा भविष्य को शिक्षित करने का समय है!

किसी भी niche में अपना ब्लॉग शुरू करें, जिसमें आप जानकारी ऑफर कर सकते हैं. यदि आपको लिखना पसंद नहीं है तो video blogging करना शुरू करें!

यहाँ दुनिया बदलने में सहयोग करने के एक महत्वपूर्ण तरीके का अन्य उदाहरण किया दिया गया है: आपके वे दोस्त जो भारत की सड़कों पर लड़कियों का rape होने से गुस्सा है, उन्हें बताएं कि वे Facebook पर अपना गुस्सा निकालने के बजाय लड़कियों के लिए self-defense पर एक ब्लॉग लिख सकते हैं! महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भारतीय सरकार को क्या कदम उठाना चाहिए इसके बारे में एक article लिखें! आपके पास असंख्य स्कोप हैं.

अपने परिचित लोगों को इंसानों के पास मौजूद सबसे घातक हथियार :writing के बारे में बताएं.

उन्हें पैसे दिखाएँ:

जब भी मैं blogging के बारे में लिखता हूँ तो मैं आपके daily diary ब्लॉग के बारे में नहीं बताता, बल्कि कमाई करने के लिए अपने ब्लॉग का प्रयोग करने के बारे में बताता हूँ. जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, पैसा सबसे बड़े motivational forces में से एक है क्योंकि सबको पैसे की जरुरत होती है. Blogging मजेदार और दिलचस्प होती है और यदि लोगों को यह पता चले कि blogging से पैसे कमाए जा सकते हैं तो यह निश्चित रूप से उनके interest को बढ़ा देगा.

भारत के कई professional bloggers केवल blogging से हर महीने 1-10 लाख तक कमा लेते हैं, जो किसी सॉफ्टवेयर इंजीनियर के दो से तीन साल तक की कमाई के बराबर है!

तो – भारत में ऐसे professional bloggers हैं जो इस समय केवल blogging से 1500-15,000 PER MONTH कमा रहे हैं.

वास्तव में कोई भी यह नहीं कह सकता कि blogging एक अच्छा profession नहीं है!

आपके starting point पर वापस आते हैं:

Google AdSense जैसे ad networks मौजूद हैं, जो प्रयोग में आसान हैं और passive income कमाने में आपकी मदद कर सकते हैं.

Corporations भी blogging को गंभीरता से ले रहे हैं:

social media ने समाज को कितना ज्यादा बदल दिया है और consumer decision-making में social shopping की भूमिका के बारे में हम पहले ही चर्चा कर चुके हैं. इस बात में कोई संदेह नहीं है कि अपने पाठकों की decision making प्रक्रिया में blogs बहुत प्रभावी होते हैं. इसी वजह से, अब कई PR companies blogging को गंभीरता से ले रही हैं, और अपने business models बढ़ाने के प्रयास में वे bloggers के साथ जुड़ रही हैं.

Micromax और Samsung जैसी मोबाइल कंपनियां अपने उत्पादों का प्रचार करने के लिए bloggers के साथ काम कर रही हैं, और यह उनके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो रहा है.

Inbound marketing के महत्व को समझते हुए ज्यादातर बड़ी कंपनियां blogging के सम्बन्ध में engagements और events के लिए अब अलग से बजट तैयार कर रही हैं. वास्तव में, उनमें से कई press events के अतिरिक्त bloggers के लिए एक अलग कार्यक्रम भी रखते हैं.

यहाँ अपने अनुभव के आधार पर मैंने कुछ observations किये हैं:

  • इस समय भारतीय blogosphere में males ज्यादा सक्रिय हैं.
  • Females blogging शुरू करती हैं लेकिन उनमें से केवल कुछ ही उसे लंबे समय से जारी रख पाती हैं.
  • अधिकांश भारतीय ब्लॉग्स technology niche से संबंधित हैं.
  • भारतीय blogosphere की मुख्य समस्या initial funding और पर्याप्त direction की कमी है.
  • College students और 16-25 वर्ष तक की उम्र के लोग blogging world में बेहद सक्रिय हैं.

BlogAdda और Indiblogger जैसे कई फोरम हैं, जो भारतीय bloggers के लिए एक community बनाने में बहुत कड़ी मेहनत कर रहे हैं और साथ ही वे corporations को भारतीय bloggers के साथ जोड़ने के लिए भी काम कर रहे हैं.

संक्षेप में, blogging industry तेजी से बढ़ रही है लेकिन इसमें दिशा की कमी है. आप और मैं एक साथ मिलकर बड़ा बदलाव ला सकते हैं. मानव इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण बदलाव एक छोटे कमरे में ही शुरू हुए थे. चलिए हम वो कमरा बनते हैं!

यह मेरा दृष्टिकोण है.

यदि आप इस चर्चा में अपने विचार जोड़ना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए comments section में निःसंकोच अपने विचार प्रकट करिये.

और हमेशा की तरह, यदि आपको इस पोस्ट में दी गयी जानकारी उपयोगी या दिलचस्प लगती है तो कृपया इसे Facebook, Twitter और Google Plus पर अपने friends और colleagues के साथ शेयर करिये.

8 thoughts on “भारतीय समाज में Blogging और कैसे आप ला सकते हैं बदलाव

  1. apNe bhut hi achhe trh de describe Kia hai blogging ke bare me lekin exactly kis topic pe blogging start krein.jo b topic choose krte hain uspe pehle se hi hajaron blogs available hote hain. To hm logo k post kaise readers tm pahuchege ?

    1. Thanks Prakash
      Mai agli post apni isi topic pe bana kar publish karunga ki kis topic per blog banayein
      kal tak apko new post mil jayegi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *